Breaking News
Home / News / केंद्र सरकार का DigiGaon Project

केंद्र सरकार का DigiGaon Project

केंद्र सरकार का DigiGaon Project

केंद्र सरकार ने उत्तर प्रदेश के धनौरी कलां गांव में DigiGaon Project के तहत Wi-Fi Choupal की शुरुआत की है | इस Digital Village Scheme के तहत, सरकार गांवों में शिक्षा, कौशल विकास और स्वास्थ्य देखभाल की सारी सुविधाएं सस्ती दरों में प्रदान करेगी | गांव आधारित Common Service Centers (CSCs), Wi-Fi Choupal का प्रबंधन करेंगे और लोगों तक डिजिटल infrastructure और internet की पहुंच को आसान बनाएगा | दिसंबर 2018 तक केंद्र सरकार देश भर के 700 गांवों में इस सुविधा को शुरू करने की योजना बना रही है |
Common Service Centers (CSCs) जो मूल इलेक्ट्रॉनिक सेवाएं प्रदान करती है उन्हें लगभग 2.5 लाख ग्राम पंचायतों को कवर करने के लिए उनकी कुल संख्या को बढ़ाया जाएगा | केंद्र सरकार डिजिटल इंडिया (Digital India) पहल के तहत गांवों के लिए subsidy योजना शुरू करने की भी योजना बना रही है |

20 मई 2018 को केंद्रीय मंत्री रविशंकर जी ने जेवर में Wi-Fi Choupal का उद्घाटन किया है | Wi-Fi Choupal सभी गांवों में स्थापित करने के लिए सभी गांवों को Wi-Fi Network के साथ जोड़ेगा |

DigiGaon Project-Wi-Fi Choupal की मुख्य विशेषताएं:-
DigiGaon Project गांवों के विकास के लिए और उन्हें self sustainable बनाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई एक बहुउद्देशीय पहल है | केंद्र सरकार ने पहले ही 110 गांवों में सैनिटरी नैपकिन विनिर्माण सुविधाओं (sanitary napkin manufacturing facilities) की स्थापना कर चुका है और दिसंबर 2018 तक इसे 6,000 गांवों तक बढ़ाने का लक्ष्य रखा गया है | DigiGaon योजना गाँव के गरीब लोगों के लिए आजीविका के स्रोत बनाती है और मासिक धर्म स्वच्छता के बारे में लोगों में जागरूकता को बढ़ावा देती है | इस योजना की महत्वपूर्ण विशेषताएं इस प्रकार हैं:-

Wi-Fi Choupal ग्रामीण इलाकों में कम लागत वाली internet connectivity की सुविधा प्रदान करेंगे | Wi-Fi Choupal नागरिकों को candle sticks, sanitary napkins, LED Bulbs, Health Service units आदि के निर्माण के लिए कुटीर उद्योग स्थापित करने में सहायता प्रदान करके उन्हें उद्यमी (entrepreneur) बनने का अवसर प्रदान करते हैं |
Common Service Centers (CSCs), डिजिटल इंडिया (Digital India) पहल की रणनीतिक आधारशिला हैं | Common Service Centers (CSCs), डिजिटल सेवाओं को वितरित करने के लिए एक access point के रूप में कार्य करता है और लोगों को IGNOU और NIOS के माध्यम से दूरस्थ शिक्षा कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए नामांकन करने में मदद करता है | आज पूरे देश में कुल 2.91 लाख Common Service Centers (CSCs) कार्यरत हैं |
DigiGaon योजना समुदाय भागीदारी के माध्यम से ग्रामीण उद्यमिता (Rural Entrepreneurship), क्षमता निर्माण और आजीविका को बढ़ावा देती है | सभी डिजिटल गांवों में सामुदायिक केंद्र solar lighting facility से सुसज्जित होंगे, energy efficient LED assembly इकाइयां होंगी, Asha और आंगनवाड़ी श्रमिकों की भागीदारी के साथ sanitary napkin units स्थापित होंगे |
प्रारंभिक चरण में, केंद्र सरकार इस परियोजना को प्याला और दयालपुर (हरियाणा में), चंदनकियारी पूर्व और शिव बबुदीह (झारखंड में) और धनौरी कलां और सुल्तानपुर (उत्तर प्रदेश में) में शुरू करेगी |

सभी DigiGaon में नियमित Common Service Centers (CSCs) सेवाएं जैसे आधार, बैंकिंग, Telemedicine, शिक्षा और वित्तीय सेवाएं उपलब्ध होंगी | नागरिक आय प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण पत्र, पेंशन योजना, मोबाइल रिचार्ज इत्यादि जैसे काम भी इन Common Service Centers (CSCs) के माध्यम से कर सकते हैं |

About admin

Check Also

डॉ. सविताबेन अम्बेडकर अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना - Copy

डॉ. सविताबेन अम्बेडकर अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना

डॉ. सविताबेन अम्बेडकर अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना ऑनलाइन आवेदन फॉर्म कैसे भरे राजस्थान 2019-20 डॉ. …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *